Latest News

Cabinet Decisions: किसानों के लिए खुशखबरी, मोदी सरकार ने इन 17 फसलों पर बढ़ाई MSP

Cabinet Decision
Cabinet Decision

Cabinet Decisions : केंद्र सरकार ने 17 फसलों पर MSP (Minimum Support Price) बढ़ाने को मंजूरी दे दी है. केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कैबिनेट के इस फैसले की जानकारी दी. उन्होंने यह कहा कि हम लगातार किसानों के भले के लिए काम कर रहे हैं. किसानों के लिए 2 लाख करोड़ का बजट तय किया गया है.

हमारे Telegram चैनल से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें : Click Here

किन फसलों पर बढ़ाई गई एमएसपी बता दें कि केंद्र सरकार ने Minimum Support Price (MSP) इन सभी पर बढ़ाया हैं – धान (सामान्य), धान (ग्रेड ए), ज्वार (हायब्रिड), ज्वार (मालदंडी), बाजरा, रागी, मक्का, तूर (अरहर), मूंग, उड़द, मूंगफली, सूरजमुखी बीज, सोयाबीन (पीला), तिल, रामतिल, कपास (मध्यम रेशा), कपास (लंबा रेशा) पर सरकार ने Minimum Support Price बढ़ाई है.

हमारे WhatsApp Group से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें : Click Here

किसानों की भलाई के लिए उठाए कदम

ठाकुर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने यह कहा की, पिछले 8 वर्षों में बीज के बाजार के दृष्टिकोण के कारण से फायदा हुआ है. किसानों की आय बढ़ाने के लिए कई जरूरी कदम उठाए गए हैं. आज की बैठक में खरीफ की 14 फसलों के लिए (MSP) बढ़ाने का निर्णय लिया गया. पिछले साल जो तय किया गया कि लागत प्लस 50%, उसे हमने लगातार आगे बढ़ाया हैं. किसान सम्मान निधि के अंतर्गत 2 लाख करोड़ खाते में जा चुके है. फर्टिलाइजर पर 2 लाख 10 हज़ार करोड़ की सब्सिडी दी गई है.

क्या होती है एमएसपी

न्यूनतम समर्थन मूल्य वह न्यूनतम मूल्य है जिस पर सरकार, किसानों से फसल खरीदती हैं. इसे ऐसे भी समझ सकते हैं कि सरकार, किसान से खरीदी जाने वाली फसल पर उन्हें जो पैसे चुकाती है वही न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) होता है. इससे नीचे किसानों को उनकी फसलों के लिए भुगतान नहीं किया जाता हैं.

क्यों तय किया जाता है MSP

किसी फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य इसलिए तय किया जाता है ताकि किसानों को किसी भी हालत में उनकी फसल के लिए एक मुनासिब न्यूनतम समर्थन मूल्य मिलता रहे.

कौन तय करता है MSP

न्यूनतम समर्थन मूल्य का ऐलान सरकार की तरफ से कृषि लागत एवं मूल्य आयोग (CACP) की सिफारिश पर साल में दो बार रबी और खरीफ के मौसम में की जाती है. वहीं गन्ने का समर्थन मूल्य अलगसे बनी गन्ना आयोग इसका न्यूनतम समर्थन मूल्य तय करता है.

Leave a Comment

Join TelegramJoin WhatsApp